3.3
(3)

mppsc Mains Paper 3 section A Technology related important Terminology, तकनिकी से सम्बंधित अति महत्वपूर्ण शब्दावलियों के बारे में जानकारी

content –

  • इंटरनेट गवर्नेंस
  • साइबर अपराध
  • नेट न्यूट्रलीटी
  • GEAC ( Genetic Engineering Approval Committee )
  • उपग्रह
  • CSIR
  • समस्थानिक
  • समभारिक
  • नाभिकीय विखंडन
  • स्तंभ कोशिका

important Terminology (महत्वपूर्ण शब्दावली)

इंटरनेट गवर्नेंस

यह उन साझा सिद्धांतों, नियमों, मानदंडों तथा निर्णय प्रक्रिया का विकास एवं अनुप्रयोग है, जो इंटरनेट के प्रयोग एवं उद्विकास को विनियमित करता है।

साइबर अपराध

इंटरनेट के माध्यम से किए गए अपराध को ही साइबर अपराध कहा जाता है।
यह वित्तीय या व्यक्तिगत तथा सामूहिक हो सकता है जैसे हैकिंग, स्पैमिंग, क्रेकिंग, फिशिंग, साइबरस्टॉकिंग आदि।

नेट न्यूट्रलीटी

  • नेट न्यूट्रलीटी से आशय इंटरनेट सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों के द्वारा इंटरनेट पर उपलब्ध सभी प्रकार की सेवाओं और आंकड़ों को समान दर्जा प्रदान करना है।
  • इसके अंतर्गत उपभोक्ता बिना किसी भेदभाव के इंटरनेट पर प्रकाशित किसी भी सामग्री और सेवा का उपयोग करने के लिए स्वतंत्र होगा इस संबंध में नियम (TRAI) नामक संस्था बनाती है।

GEAC ( Genetic Engineering Approval Committee )

  • जेनेटिक इंजीनियरिंग अनुमोदन समिति की स्थापना पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के अंतर्गत की गई यह एक सांविधिक निकाह है।
  • यह जैव प्रौद्योगिकी विभाग के अंतर्गत आने वाले RCGM (Review Committee of Genetic Manipulation) से मिलने वाले अनुमोदन के बाद ही प्रस्ताव पर विचार करता है।
  • यह वातावरण में अनुवांशिकी रूप से संशोधित जीवो को छोड़ने अथवा अन्य जीएम उत्पादों के विषय से संबंधित प्रस्तावों के अनुमोदन के संदर्भ में एक शीर्ष निकाय है।

उपग्रह

यह खगोलीय पिंड है जो किसी ग्रह के चारों ओर परिक्रमा करता है तथा जिसका अपना स्वयं का कोई प्रकाश नहीं होता है उपग्रह दो प्रकार के होते हैं।
प्राकृतिक उपग्रह- जैसे चंद्रमा
कृत्रिम उपग्रह- जैसे आर्यभट्ट

CSIR

  • वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद भारत का सबसे बड़ा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पर अनुसंधान एवं विकास संबंधित संस्थान है।
  • जिसकी स्थापना 1942 में की गई थी।
  • यह स्वयात संस्था है।
  • इसका वित्तीय प्रबंधन भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा होता है।
  • इसके अध्यक्ष भारत के प्रधानमंत्री होते हैं।

समस्थानिक- किसी तत्व के वे परमाणु होते हैं, जिनके परमाणु क्रमांक सामान परंतु परमाणु भार भिन्न होते हैं।

समभारिक – भिन्न-भिन्न तत्व के वे परमाणु जिन की द्रव्यमान संख्या( परमाणु भार) सामान लेकिन परमाणु संख्या भिन्न-भिन्न होते हैं, समभारिक कहलाते हैं।

नाभिकीय विखंडन

वह प्रक्रिया जिसमें सामान दाब तथा ताप पर कोई भारी अस्थिर नाभिक टूट कर दो लगभग समान स्तर के नाभिक में परिवर्तन होते हैं, इसमें बड़े परमाणु का द्रव्यमान आपके दोनों परमाणुओं के संयुक्त भार से ज्यादा होता है यही द्रव्यमान क्षति आइंस्टीन के समीकरण e = mc² के ऊर्जा में तब्दील होती है।

स्तंभ कोशिका

स्तंभ कोशिका वे कोशिकाएं हैं, जो शरीर के किसी अंग अथवा कोशिका के विकास करने की क्षमता रखती है, अधिकांशत स्टेम सेल कोशिकाएं भ्रूण से प्राप्त होती है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 3.3 / 5. Vote count: 3